छत्तीसगढ़ को मिली 22 हज़ार करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल छत्तीसगढ़ दौरे के दौरान राज्य को 22 हज़ार करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। प्रधानमंत्री ने आधुनिक और विस्तारित भिलाई इस्पात सयंत्र राष्ट्र को समर्पित किया। विस्तार के बाद इसकी उत्पादन क्षमता में तक़रीबन 60 फीसदी का इज़ाफ़ा होगा। पीएम ने इस मौके पर सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाणपत्रों का भी वितरण किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत 3.5 लाख घर रोशन हो चुके है।

गुरूवार को छत्तीसगढ़ के विकास के अध्याय में नया पन्ना जुड़ा। खास दिन के खास मौके पर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी छत्तीसगढ़ पहुंचे। पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ को एक साथ 22 हज़ार करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। पीएम मोदी ने अपने दौरे में आधुनिक और विस्तारित भिलाई इस्पात सयंत्र राष्ट्र को समर्पित किया। भिलाई संयंत्र के आधुनिक और विस्तारित होने के बड़े मायने हैं।

इस प्लांट के विस्तार के बाद इसकी उत्पादन क्षमता में तक़रीबन 60 फीसदी का इज़ाफ़ा होगा। प्लांट की मौजूदा उत्पादन क्षमता 3500 मीट्रिक टन है जो बढ़कर 7500 मीट्रिक टन तक पहुँच जायेगी। पीएम मोदी ने जयंती स्‍टेडियम से आईआईटी भिलाई का डिजिटल शिलान्‍यास किया। 444 एकड़ में बनने वाली ये आईआईटी पूरी तरह से पर्यावरण अनुकूल होगी और 2020 तक बनके तैयार हो जायेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने भारत नेट योजना के दूसरे चरण की भी शुरूआत की। इस योजना के तहत अब तक छत्तीसगढ़ 4000 हज़ार गांवों में भारत नेट की सेवा पहुंच चुकी है जबकि लगभग 6000 गांवों में दूसरे चरण इंटनेट पहुंच जाएगा।

छत्तीसगढ़ के विकास और रोशन होते गांवो में अब उजाला आया है। छत्तीसगढ़ के 1100 गांवों में बिजली पहुंच चुकी है, जबकि सौभाग्य योजना के तहत 3.5 लाख घरों रोशन हो चुके है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ में अबतक 38 लाख शौचालय, 22 लाख उज्जवला कैनेक्शन, 26 लाख लोगों को मुद्रा योजना का लाभ मिला, 60 लाख को बीमा सुरक्षा और 13 लाख किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ मिला है।

पीएम मोदी ने केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों को भी प्रमाण पत्र वितरित किये। इनमें सूचना-क्रांति, जच्चा-बच्चा योजना, उज्ज्वला योजना, आबादी पट्टा और केंद्र की तमाम बीमा योजनाओं के लाभार्थियों शामिल थे। छत्तीसगढ़ में पीएम की दो महीने के भीतर यह दूसरी यात्रा है।

इससे पहले 14 अप्रैल को बीजापुर के जांगला से प्रधानमंत्री मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के तहत देश भर में हेथ एंड वेलनेस सेन्टर ल्की शुरुआत की थी। पीएम मोदी का फोकस उन क्षेत्रों पर खासतौर पर है विकास की धारा में पिछड़ गये है। इसी को ध्यान में रखते हुए पीएम ने नक्सल प्रभावित राज्यों में तेज़ी से विकास के काम कर रहे है ताकि वो विकास की मुख्यधारा में आ सके।

एक दिन के दौरे पर छत्तीसगढ़ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के लोगों को एक से बढ़कर एक परियोजनाओं के तोहफे दिए। उन्होंने कहा कि बस्तर की पहचान अब नक्सली हिंसा नहीं बल्कि वहां होने वाला विकास है। उन्होंने नए रायपुर में एकीकृत कमांड और कंट्रोल सेंटर का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के लिए भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण की भी शुरूआत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जगदलपुर से रायपुर के बीच उड़ान सेवा का भी उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी लोगों के कल्याण के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को भी दोहराया।

एक दिन के दौरे पर छत्तीसगढ़ गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य को ऐसी सौगातें दी जो इसे विकास के नए स्तर पर पहुंचा देगी। प्रधानमंत्री ये प्रयास ऐसे राज्य के लिए कर रहे हैं जो नक्सवाद की समस्या से लंबे समय तक ग्रसित रहा है और वहां विकास नए रुप और स्वरुप में दस्तक दे रहा है।

इसकी बानगी हम प्रधानमंत्री के प्रति लोगों के उत्साह के तौर पर भी देख सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन योजनाओं को समर्पित किया उससे राज्य के विकास को रफ्तार मिलेगी। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि बस्तर में होने वाला विकास ही अब इसकी पहचान है ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नया रायपुर के एकीकृत कमांड और कंट्रोल सेंटर का उद्घाटन किया। यह देश का 10वां ऐसा शहर होगा जहां यह सुविधा उपलब्ध होगी। केंद्र के जरिए शहर की संरक्षा को बढ़ाने, सुरक्षा और लोगों से जुड़ी सुविधाओं को मुहैया कराया जाएगा।

इसकी अन्य विशेषताओं में-

भूमि आवंटन, पानी का बिल, सूचना का अधिकार, शिकायतों के निपटारे सहित नागरिकों की अन्य सेवाओं के लिए सिंगल विंडो सिस्टम की सुविधा, दिव्यांग जनों के लिए सरल आवेदन की व्यवस्था, बिना बाधा के पानी और बिजली की सातों दिन और चौबिसों घंटे सुविधा और इसकी समय पर निगारानी व्यवस्था, नागरिकों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए निरीक्षण की व्यवस्था, आपराधिक गतिविधियों के खिलाफ कार्रवाई, यातायात नियमों का पालन कराना और एनपीआर कैमरों की व्यवस्था, समय पर आंकलन, बिजली, पानी, सीवर व्यवस्था की योजना और प्रबंधन का ख्याल रखना शामिल है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के लिए भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण की चरण की भी शुरूआत की। इससे छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्र में कनेक्टीवीटी को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जगदलपुर से रायपुर के बीच उड़ान सेवा का भी उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार की इस योजना से हवाई यात्रा आम लोगों तक भी पहुंच गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी लोगों के कल्याण के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को भी दोहराया। उन्होंने सबका साथ सबका विकास के मंत्र को सरकार की प्राथमिकता बताया।