चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस 1 जुलाई : अर्थजगत के ऋषि-मुनि हैं सीए जो इस अर्थ क्षेत्र के लोगों को सही दिखाते हैं राह करते है तनाव से मुक्त – योग गुरु महेश अग्रवाल

शेयर करें:


आदर्श योग आध्यात्मिक केंद्र स्वर्ण जयंती पार्क कोलार रोड़ भोपाल के संचालक योग गुरु महेश अग्रवाल ने बताया कि देश के सबसे पुराने पेशेवर संस्थानों में से एक, इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की स्थापना के उपलक्ष्य में हर साल 1 जुलाई को सीए दिवस मनाया जाता है। भारत की संसद द्वारा 1949 में स्थापित, आईसीएआई दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा वित्तीय लेखा परीक्षा और लेखा पेशे के लिए एकमात्र लाइसेंसिंग और नियामक निकाय है। दुनिया भर में आईसीएआई और चार्टर्ड अकाउंटेंट के लगभग 2.5 लाख सदस्यों को सम्मानित करने के लिए प्रतिवर्ष सीए दिवस मनाया जाता है।

विश्व सीए दिवस के अवसर पर योग गुरु अग्रवाल ने इस क्षेत्र से जुड़े सभी सम्मानीय सदस्यों को शुभकामनायें देते हुए कहा कि जिस प्रकार एक डॉक्टर की मुस्कुराहट, उसकी दवाओं से कहीं ज्यादा असर करती है। उसी प्रकार एक सीए के सही मार्गदर्शन से अर्थ एवं व्यापार के क्षेत्र में लोग भय मुक्त एवं तनाव रहित कार्य कर पाते है एवं देश के लिए परिवार के लिए समाज के लिए विकास में अपना योगदान देते है | हम सभी लोगो के साथ जीवन कई बार यह अनुभव हुआ होगा जब हम आर्थिक क्षेत्र की गतिविधियों को सही प्रबंधन नहीं करने की वजह से तनाव ग्रस्त हो जाते है और कई बार बीमार भी जिसकी वजह से तरक्की के मार्ग में अवरोध होने लगता है ऐसे समय में हमारे सीए ही हमें सही मार्गदर्शन देकर विकास का मार्ग प्रशस्त करते है |

अर्थव्यवस्था देश की वित्तीय स्थिति को दिशा देते हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट – दुनिया भर में, भारतीय सीए अपनी बेहतर समझ और अनुकरणीय वित्तीय कौशल के लिए पहचाने जाते हैं। हमारे पवित्र शास्त्रों में, चार चीजों का उल्लेख किया गया है रिलीजन (धर्म), इकोनाॅमी (अर्थ), वर्क (काम) और साल्वेशन (मोक्ष)। इनमें से अर्थव्यवस्था देश की वित्तीय स्थिति को दिशा देने की जिम्मेदारी चार्टर्ड अकाउंटेंट के कंधों पर है। किसी भी संस्थान में चार्टर्ड अकाउंटेंट अथवा सीए का काम बेहद सम्मानजनक एवं चुनौतीपूर्ण होता है। वे उस संस्थान अथवा कंपनी से जुड़े सभी अकाउंट एवं फाइनेंस संबंधी कार्यों के प्रति उत्तरदायी होते हैं। इसके अलावा इनका कार्य मनी मैनेजमेंट, ऑडिट अकाउंट का एनालिसिस, टैक्सेशन तथा फाइनेंशियल एडवाइज उपलब्ध कराने से भी संबंधित है।

संभावनाओं का खुला आकाश – सीए का काम अत्यंत चुनौतीपूर्ण व सम्मानजनक है। इसके प्रोफेशनल्स के रूप में देश-विदेश की कंपनियों में फाइनेंस, अकाउंट्स एवं टैक्स डिपार्टमेंट में फाइनेंस मैनेजर, अकाउंट्स मैनेजर, फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट, ऑडिटिंग/इंटरनल ऑडिटिंग, स्पेशल ऑडिट्स सहित चेयरमैन, मैनेजिंग डायरेक्टर, सीईओ, फाइनेंस डायरेक्टर, फाइनेंशियल कंट्रोलर, चीफ अकाउंटेंट, चीफ इंटरनल ऑडिटर जैसे महत्वपूर्ण पदों पर काम कर सकते हैं। इसके साथ ही उनके लिए प्राइवेट प्रैक्टिस व कंसलटेंसी में रोजगार के अवसर मिलते हैं।

प्रमुख संस्थान – दि इंस्टीटय़ूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) वेबसाइट- www.icai.org (हेड ऑफिस नई दिल्ली में स्थित है। इसके चार रीजनल ऑफिस मुंबई, कोलकाता, चेन्नई तथा कानपुर में है, जबकि पूरे देश में 87 ब्रांच और विदेशों में नौ चैप्टर मौजूद हैं) स्किल्स – सीए प्रोफेशन खासकर उन्हीं लोगों के लिए है, जो दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ कठिन मेहनत की क्षमता रखते हों। कॉमन सेंस, प्रशासनिक कौशल, अकाउंटिंग व एथिक्स, गणितीय कौशल, निर्णय लेने की क्षमता, करेंट अफेयर्स से अपडेट होना जरूरी है। यदि कठिन परिश्रम को अपने जीवन का आधार बना लें तो सीए बनने की राह काफी आसान हो जाती है। इसमें सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता। सीए प्रोफेशनल्स की मांग हमेशा से रही है। लगभग सभी कंपनियों को एक स्तर के बाद इनकी जरूरत पड़ती है। छात्रों के लिए इसमें व्यापक संभावनाएं हैं।