CBSE Exam: पेपर लीक मामले में पीएम मोदी ने जताई नाराजगी दिए सख्त कार्रवाई के आदेश

शेयर करें:

नई दिल्ली। सीबीएसइ परीक्षा के पेपर लीक होने के मामले में पीएम मोदी ने नाराजगी जताई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एचआरडी मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बात की है। पीएम मोदी ने पेपर लीक मामले में एचआरडी मंत्री से नाराजगी जाहिर करते हुए सख्त कार्रवाई के लिए कहा है।

इस बीच केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सीबीएसइ पेपर लीक पर दुख जताते हुए कहा है कि जांच के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने छात्रों और अभिभावकों को भरोसा दिलाया कि आगे से सारी परीक्षाएं लीक प्रूफ होंगी। जावड़ेकर ने कहा कि पेपर लीक केस की पुलिस जांच अहम मोड़ पर है, लिहाजा वह जांच के विषय में ज्यादा कुछ नहीं बोलेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ हिस्सों में पेपर वॉट्सऐप पर लीक हुए थे और इस संबंध में हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री ने कहा कि परीक्षाएं देशभर में आयोजित हुईं लेकिन दिल्ली के कुछ स्कूलों से ही पेपर लीक की खबरें आईं। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि अब पेपरों के वितरण के वक्त सुरक्षा को पहले से ज्यादा सख्त किया जाएगा। जावड़ेकर ने कहा कि उन्हें छात्रों और अभिभावकों की परेशानियों का अंदाजा है। उन्होंने कहा, ‘मैं छात्रों और अभिभावकों को आश्वस्त करता हूं कि आगे से पेपर लीक नहीं होंगे।

जावड़ेकर ने कहा कि अगले साल से प्रफेशनल भर्ती परीक्षाओं के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी बनेगी ताकि पेपर लीक प्रूफ हों। इस बीच सीबीएसइ पेपर लीक के बाद दिल्ली पुलिस भी हरकत में आ गई है और आला अधिकारियों ने इस मसले पर बैठक की है। पेपर लीक मुद्दे को लेकर दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर और स्पेशल कमिश्नर ने पुलिस कमिश्नर से मुलाकात की है।

इस बीच पेपर लीक मामला बढ़ता देख अब बोर्ड ने गणित और अर्थशास्त्र का पेपर फिर से कराने का फैसला किया है। अभी ये जानकारी नहीं दी गई है कि पेपर किस दिन कराए जाएंगे। बोर्ड दसवीं कक्षा के गणित के पेपर और 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र का पेपर दोबारा करवाएगा। आरोप लगे हैं कि ये दोनों पेपर लीक हो गए थे। इस वजह से इन्हें दोबारा कराने का फैसला लिया गया है।

बुधवार को सीबीएसइ ने इन दो पेपरों में फिर से परीक्षा लेने की पुष्टि कर दी है। आपको बता दें कि 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा 27 मार्च और 10वीं गणित की परीक्षा 28 मार्च को हुई थी। सीबीएसइ ने बताया है कि परीक्षा की तारीख की घोषणा एक सप्ताह के भीतर वेबसाइट पर कर दी जाएगी।

अभिभावकों का कहना है कि इससे बच्‍चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पेपर लीक होने से उनकी मेहनत खराब हो गई। इस साल 5 मार्च से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसइ) की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं शुरू हुईं थीं। परीक्षाओं में देशभर से 28 लाख, 24 हजार, 734 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। सीबीएसइ के मुताबिक इस साल दसवीं की परीक्षा में 16 लाख, 38 हजार, 428 और बारहवीं की परीक्षा में 11 लाख, 86 हजार, 306 परीक्षार्थी रजिस्टर हुए थे।