जिले के केबल ऑपरेटर्स को केबल अधिनियम 1995 के निर्देशों का पालन करना होगा

शेयर करें:

इन्दौर @ सीईओ जिला पंचायत एवं नोडल अधिकारी एमसीएमसी नेहा मीना ने स्थानीय केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिए है कि वे केबल टेलिविजन अधिनियम 1995 का पालन करें। बिना जिला मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति की अनुमति के चुनाव के दौरान कोई भी विज्ञापन जारी न करें। केबल ऑपरेटर्स ऐसा कोई भी विज्ञापन जारी नहीं करेंगे जो कि विधि के प्रतिकूल हो।

उन्होने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक रजिस्ट्रीकृत राष्ट्रीय और राज्यीय राजनैतिक दल तथा चुनाव लड़ने वाला अभ्यर्थी जो टेलीविजन चैनल पर विज्ञापन प्रसारित करवाने का प्रस्ताव रखता है, उसे 7 दिन पूर्व जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति से अनुमति लेना अनिवार्य है। इसी अधिनियम की धारा 13 में यह भी प्रावधान है कि निर्देशों का उल्लंघन करने पर केबल ऑपरेटर्स के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

अर्थदण्ड भी किया जा सकता है और सामान जप्ती की भी कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा दिये गये निर्देशानुसार केबल ऑपरेटर्स प्रतिदिन प्रसारित किये गये कार्यक्रमों/समाचारों आदि की रिकार्डिंग डीवीडी अगले दिन शाम 5 बजे तक जिला पंचायत स्थित जिला मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति के कार्यालय में जमा करेंगे।