दिल्ली में 2018 से ही होगा बीएस 6 लागू

शेयर करें:

केन्द्र सरकार ने 2020 के बजाय एक अप्रैल 2018 से ही दिल्ली में प्रदूषण उत्सर्जन मानक को बीएस 6 तक ले जाने का फ़ैसला लिया है, दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण के बिगड़ते हालात के मद्देनज़र यह क़दम उठाया गया है।

देश में वाहनों के ईंधन से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल के मानक में सुधार करने की कोशिश कर रही है। इसके तहत राजधानी दिल्ली में 1 अप्रैल, 2018 से बीएस-4 ग्रेड के पेट्रोल और डीजल की बजाय बीएस-6 ग्रेड के ईंधन को मुहैया का फैसला लिया गया है।

पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान के मुताबिक मंत्रालय ने सरकारी तेल कंपनियों से बातचीत के बाद कहा कि दिल्ली में बीते एक-दो सालों में बढ़े स्मॉग और प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए यह फैसला लिया गया है। इससे पहले बीएस-6 ग्रेड के ईधन को 1 अप्रैल, 2020 से बेचने का कर्यक्रम था।

मंत्रालय ने कंपनियों से 1 अप्रैल, 2019 तक एनसीआर के अन्य शहरों में भी बीएस-6 ग्रेड के ईंधन को बेचने की संभावनाएं तलाशने के लिए कहा है। मंत्रालय का कहना है कि इससे दिल्ली और आसपास के शहरों में प्रदूषण की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी।