बॉलीवुड में ‘सदमा’ श्री देवी नहीं रही

शेयर करें:

रीब पांच दशकों तक अपने दमदार अभिनय और दिलकश अदाओं से सिनेमा प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी का दुबई में शनिवार रात दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। ‘सदमा’, ‘चांदनी’, लम्हे से लेकर ‘इंग्लिश-विंग्लिश’ और ‘मॉम’ तक सैकड़ों फिल्मों में विविधतापूर्ण किरदारों को पर्दे पर सजीव बनाने वाली श्रीदेवी 54 वर्ष की थीं।

वर्ष 2013 में देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मश्री से सम्मानित की जा चुकीं श्रीदेवी ने अपने अभिनय की शुरुआत चार साल की उम्र में तमिल फिल्म ‘तुनाइवन’ से 1967 में की। मलयालम, तेलुगु और कन्नड़ फिल्मों में अभिनय की सफल पारी के बाद श्रीदेवी दक्षिण भारतीय फिल्मों का एक लोकप्रिय चेहरा बन गईं। बॉलीवुड में उन्होंने अपना कदम फिल्म ‘सोलवां सावन’ से रखा। यह फिल्म 1979 में आई लेकिन श्रीदेवी को पहचान नहीं दे पाई। इससे पहले वह बॉलीवुड फिल्म ‘जूली’ में बतौर बाल कलाकार नजर आईं थीं।

पांच साल बाद श्रीदेवी फिल्म ‘हिम्मतवाला’ में अभिनेता जितेंद्र के साथ आईं और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी। इस फिल्म के बाद श्रीदेवी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और नायक प्रधान फिल्मों के दौर में उन्होंने ‘मवाली’ (1983), ‘तोहफा’ (1984), ‘मिस्टर इंडिया’ (1987), ‘चांदनी’ (1989), ‘चालबाज’ (1989), ‘लम्हे’ (1991) और ‘गुमराह’ (1993) जैसी फिल्में दीं।

अंबानी के जेट से तड़के आएगा श्रीदेवी का पार्थिव शरीर, मुंबई में किया जाएगा अंतिम संस्कार।

श्रीदेवी मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने के लिए दुबई गई थीं। मोहित की पत्नी, अनिल अंबानी की पत्नी टीना अंबानी की भतीजी हैं।

फॉरेंसिक जांच के कारण हो रही है देरी, हाई प्रोफाइल केस कारण नहीं लिया जा रहा है रिस्क।

उनकी फिल्म ‘सदमा’ एक अलग पहचान रखती है। यह फिल्म 1983 में आई थी। फिल्म ‘जुदाई’ में उन्होंने अनिल कपूर और उर्मिला मातोंडकर के साथ काम किया। इसके बाद श्रीदेवी ने अनिल कपूर के बड़े भाई बोनी कपूर से शादी की और करीब 15 साल तक रूपहले पर्दे पर नहीं दिखाई दीं। इस लंबे अंतराल में अपनी दो बेटियों की परवरिश करने के बाद श्रीदेवी साल 2012 में गौरी शिंदे के निर्देशन में बनी ‘इंग्लिश-विंग्लिश’ में नजर आईं। इस फिल्म में श्रीदेवी अपनी ग्लैमर क्वीन की छवि से बिल्कुल अलग, मध्यमवर्गीय गृहिणी की भूमिका में नजर आईं जो अंग्रेजी बोलने की चाहत इसलिए रखती है कि उसका परिवार उसकी अहमियत समझे।

पिछले साल वह ‘मॉम’ फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अक्षय खन्ना के साथ दिखाई दीं। उन्होंने अभिनेता शाहरुख खान की आगामी फिल्म ‘जीरो’ में एक अतिथि भूमिका के लिए भी शूटिंग की। यह फिल्म दिसंबर में रिलीज होगी। अभिनेता से नेता बने कमल हासन का कहना है कि श्रीदेवी ने अभिनय के प्रति अपने समर्पण से उन्हें चकित कर दिया था और एक अभिनेत्री के रूप में वह उनकी सफलता से प्रभावित थे। श्रीदेवी के साथ हासन ने 27 फिल्मों में काम किया है। इनमें निर्देशक के. बालाचंद्र की फिल्म ‘मूंदरू मुदिचू’ भी शामिल है जिसमें उनके साथ दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत थे। हासन ने ट्वीट किया, ‘मैंने श्रीदेवी को उनके जीवन में एक अल्हड़ सी किशोरी से लेकर एक परिपक्व महिला के तौर पर उभरते देखा है। वह शोहरत पाने की हकदार थीं। आखिरी बार जब मैं उनसे मिला था तब से लेकर उनके साथ बिताए कई खुशनुमा यादगार पल अब भी मेरी आंखों के सामने जीवंत हो उठते हैं। मुझे सदमा की वो लोरी बार बार याद आ रही है।’

बॉलीवुड हुआ गमगीन
श्रीदेवी के असामयिक निधन से भारतीय फिल्म उद्योग सदमे में है। उनके निधन पर बॉलीवुड की कई जानीमानी हस्तियों ने सोशल मीडिया पर अपना शोक व्यक्त किया। अमिताभ बच्चन, प्रियंका चोपड़ा, सुष्मिता सेन, सिद्धार्थ मल्होत्रा और ऋतेश देशमुख जैसे कई बॉलीवुड अभिनेताओं ने ट्विटर पर अपनी संवेदना व्यक्त की। अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर लिखा, ‘पता नहीं क्यों, कुछ अजीब सी बेचैनी महसूस कर रहा हूं।’ श्रीदेवी के साथ अमिताभ बच्चन फिल्म ‘खुदा गवाह’ में काम कर चुके हैं।

अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने ट्वीट किया, ‘मेरे पास शब्द नहीं हैं। श्रीदेवी से प्यार करने वाले हर शख्स के लिए मेरी संवेदनाएं हैं। दुखद दिन। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।’ टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के आर्टिस्टिक निर्देशक कैमरन बेली ने ट्वीट किया, ‘भारत की जानी मानी अभिनेत्री के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। खुशनसीब और सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि वर्ष 2012 में इंग्लिश विंग्लिश के लिए टोरंटो आईं श्रीदेवी का सान्निध्य मिला।

अपनी भूमिकाओं से उन्होंने लाखों लोगों के दिलों में जगह बनाई।’ आमिर खान ने कहा कि श्रीदेवी को हमेशा प्यार और आदर से याद किया जाएगा। उन्होंने लिखा, ‘मैं उनके काम का हमेशा से बड़ा प्रशंसक रहा हूं। मैं उनकी खूबसूरती का भी उतना ही कायल रहा हूं। जिस खूबसूरती और गरिमा के साथ वो खुद को पेश करती थीं, उसका भी मैं प्रशंसक रहा हूं।’ श्रीदेवी की समकालीन अभिनेत्रियों में से एक माधुरी दीक्षित ने ट्वीट किया, ‘दुनिया उस प्रतिभावान शख्सियत से महरूम हो गई, जो अपने पीछे फिल्मों में बड़ी विरासत छोड़ गईं।’

‘मिस्टर इंडिया’ में अभिनेत्री के साथ काम कर चुके निर्देशक शेखर कपूर ने उन्हें अपने समय की सभी भाषाओं में अभिनय करने वाली ‘बेताज मलिका’ बताया। उन्होंने लिखा, ‘श्रीदेवी न केवल भारतीय सिनेमा की बेहतरीन अभिनेत्री थीं बल्कि वह एक बेहतरीन नृत्यांगना भी थीं। स्वभाव से अंतर्मुखी होने के बावजूद कैमरे के सामने आते ही उनमें बला की फुर्ती आ जाती थी। सेट पर अपने हर शॉट से वह निर्देशकों को चकित कर देतीं थीं।

‘चालबाज’, ‘कर्मा’, ‘लाडला’ और चांदनी जैसी फिल्मों में उनके साथ काम कर चुके अभिनेता अनुपम खेर ने कहा कि हम जिन्हें बेइंतहां पसंद करते हों और उनके प्रशंसक रहे हों, उनके बारे में ऐसी बातें बड़ी असहज कर जाती हैं। हंसल मेहता ने कहा कि वह अभिनेत्री को अपनी नई फिल्म में लेना चाहते थे लेकिन अब काफी देर हो चुकी है। वर्ष 1994 में ‘मेरी बीवी का जवाब नहीं’ फिल्म में अभिनेत्री के साथ काम कर चुके अक्षय कुमार ने लिखा, ‘उनके साथ पर्दे पर नजर आना कई लोगों का ख्वाब रहा है।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सहित कई राजनीतिक हस्तियों ने भी श्रीदेवी के निधन पर शोक जताया।