बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ली राज्यसभा की शपथ

शेयर करें:

केंद्रीय कपड़ा और सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ ली। राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू ने शपथ दीलाई।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार से राज्यसभा सांसद के तौर नई पारी की शुरूआत की है। आज संसद भवन में राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने उन्हें की शपथ दिलाई। सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने भी बतौर राज्यसभा सांसद शपथ ली। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने हिन्दी में और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संस्कृत में शपथ ली। इस मौके पर कई वरिष्ठ केन्द्रीय मंत्री और पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहली बार सांसद बने है। अमित शाह राज्यसभा के लिये गुजरात से चुनकर आये है। इससे पहले वो पांच बार गुजरात विधानसभा के सदस्य रह चुके है।

अमित शाह के अलावा केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने भी राज्यसभा सांसद के तौर पर शपथ ली। स्मृति ईरानी गुजरात से दूसरी बार राज्यसभा में चुनकर आई है। स्मृति ईरानी बीजेपी संगठन में भी कई अहम पदों पर रह चुकी है। महाराष्ट्र यूथ विंग से लेकर पार्टी की महिला मोर्चा के प्रमुख का पद रहा हो या फिर राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी, उन्होंने पार्टी द्वारा दी गई हर जिम्मेदारी को बखूबी निभाया है। मौजूदा समय में स्मृति ईरानी मोदी सरकार में सूचना प्रसारण मंत्रालय के साथ कपड़ा मंत्रालय की अहम जिम्मेदारी भी संभाल रही है।

एनडीए के सहयोगी नेताओं और बीजेपी नेताओं का मानना है कि राज्यसभा में बीजेपी अध्यक्ष की मौजूदगी सत्ताधारी दल के सांसदो का मनोबल बढाने का काम करेगी।

राज्यसभा सांसद के तौर पर शपथ लेने के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सबसे पहले संसद भवन परिसर में पार्टी के संसदीय दल के कार्यालय पहुंचे जहां बीजेपी नेताओं ने उनका अभिनंदन किया। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, संसद भवन परिसर से वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के घर गये और उनसे शुभाशीष भी लिया।

गौरतलब है कि अमित शाह का पार्टी अध्यक्ष के तौर पर कार्यकाल बेहद शानदार रहा है न केवल बीजेपी का विस्तार हुआ है बल्कि एनडीए सहयोगियों के साथ 18 राज्यों में बीजेपी की सरकार है और बीजेपी सदस्य संख्या के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनी है। गौरतलब है कि अमित शाह ऐसे समय राज्यसभा सांसद बने है जब जेडीयू के साथ आने से एनडीए की ताकत बढ़ी है। राज्यसभा सांसद के रूप में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की नई पारी से संसद में बीजेपी की रणनीति को नई धार मिलने की उम्मीद है।