प्रयागराज : सेना के हवलदार की हत्या, जिस लड़की के साथ निकले थे घूमने उसी के खिलाफ परिवार वालों ने दर्ज कराया हत्या का मामला

शेयर करें:

प्रयागराज. धूमनगंज थाना क्षेत्र के टीपीनगर में जम्मू के उधमपुर में तैनात सेना के एक हवलदार की शुक्रवार की रात हत्या कर दी गई. वह एक लड़की के साथ घूमने के लिए रात में निकले थे. उक्त लड़की ने ही हवलदार के परिवार वालों को फोन कर सूचना दी कि वह घायल है. परिवार वालों ने लड़की के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कराया है.

हवलदार आशुतोष सिंह शुक्रवार की रात लगभग साढ़े आठ बजे पहचान की एक 20 वर्षीय लड़की के साथ टहलने और उसे समोसा खिलाने निकले थे. रात लगभग 10 बजे लड़की ने ही आशुतोष सिंह के परिजन को सूचना दी कि वह गंभीर रूप से घायल हो गये हैं. इस सूचना पर परिजन व पुलिस मौके पर पहुंची जिसके बाद घायल हवलदार को निजी अस्पताल और बाद में मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया.

मिलिट्री अस्पताल के डॉक्टरों ने 38 वर्षीय हवलदार आशुतोष सिंह को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद आशुतोष के पिता अशोक कुमार सिंह ने धूमनगंज थाने में उक्त लड़की के खिलाफ हत्या और साजिश करने का मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई है. धूमनगंज पुलिस लड़की को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

वहीं क्राइम ब्रांच को मामले के खुलासे के लिए लगा दिया गया है. हवलदार पर हमला करने वाले आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की कई टीम दबिश भी दे रही है. पुलिस का कहना है कि लड़की बार-बार बयान बदल रही है. इससे कहानी उलझती जा रही है.

लड़की अब अपने साथ गैंग रेप होने की भी बात कर रही है जिस आधार पर पुलिस ने लड़की के कपड़ों को सुरक्षित करा लिया है और उसे मेडिकल के लिए महिला कांस्टेबल के साथ अस्पताल भेज दिया है. एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के मुताबिक पूरे मामले में परिजनों से बातचीत कर और जानकारी जुटाई जा रही है.

आशुतोष सिंह के ​परिवार वालों ने बताया कि वे जम्मू के उधमपुर में तैनात थे. दो जनवरी को छुट्टी पर घर आये थे. आज ही उसे वापस जम्मू जाना था लेकिन उससे पहले यह वारदात हो गई. आशुतोष के पिता पीएससी में थे और लड़की के पिता भी पीएसी में कार्यरत हैं. दोनों परिवारों के बीच पुरानी जान पहचान भी थी. लड़की का ये भी कहना है कि उसकी मां की मौत हो गई है और उसके पिता उसकी देखभाल नहीं करते हैं जिसके चलते आशुतोष के परिवार से उसकी नजदीक बढ़ गई थी.