सीएम हेल्पलाईन डिस्पोजल में उदासीनता बरतना पड़ा भारी

शेयर करें:

कटनी @ सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त शिकायतों के निराकरण के स्पष्ट आदेश कलेक्टर प्रियंक मिश्रा द्वारा सभी जिला अधिकारियों को दिये गये हैं। साथ ही उन्होने स्पष्ट तौर पर यह भी निर्देशित किया है कि सीएम हेल्पलाईन के डिस्पोजल में किसी भी तरह की उदासीनता ना बरती जाये। एैसा करने वाले पदाविहित अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही के आदेश भी कलेक्टर द्वारा दिये गये थे।

इन्ही निर्देशों के तहत सीएम हेल्पलाईन की शिकायतों के निराकरण में उदासीनता बरतना सात पदाविहित अधिकारियों को भारी पड़ा। इन्हें अपर कलेक्टर जगदीश चन्द्र गोमे द्वारा शोकॉज नोटिस जारी किया गया है। पूरे मामले के अनुसार सीएमओ बरही अभयराज सिंह, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एस.के. भुमिया व जी.आर. हल्दकार, सीईओ जनपद ढीमरखेड़ा विनोद कुमार पाण्डे, सहायक यंत्री पीएचई पी.के. प्यासी, गोविन्द डी भूरिया और महेश प्रसाद पाठक को अपर कलेक्टर द्वारा एससीएन जारी किया गया है।

इन सभी अधिकारियों के द्वारा सीएम हेल्पलाईन के तहत प्राप्त शिकायतों का निर्धारित समय सीमा में निराकरण नहीं किया गया। जिससे यह शिकायतें बिना निराकृत हुये ही उच्च लेवल पर ट्रान्सफर हो गईं। इन्ही पदीय कर्तव्यों के निर्वहन में कोताही बरतने पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया। जारी कारण बताओ सूचना पत्र का जवाब तीन दिवस में प्रस्तुत करने के आदेश अपर कलेक्टर ने दिये हैं। नियत अवधि में उत्तर प्राप्त ना होने की दिशा में एकपक्षीय कार्यवाही की जायेगी।