मोबाइल और इंटरनेट का उपयोग कर अनिता सोनी बनीं टॉपर

शेयर करें:

रायपुर। मोबाइल, इंटरनेट और फोन पर दोस्तों से बातचीत से देश दुनिया के ज्ञान ने अनिता को टॉपर बना दिया। एमबीए की पढ़ाई से उन्होंने मैनेजमेंट का फंडा सीखा और बेहतर प्रबंधन से पीएससी-2018 (CGPSC 2018 Result) की टॉपर बन गई।

अनिता सोनी (Anita Soni) कहती हैं कि शुरुआती दौर में मैंने कभी नहीं सोचा था कि सिविल सर्विस में जाऊंगी, लेकिन गुरु घासीदास केंद्रीय विद्यालय बिलासपुर से मैंने जब एमबीए किया तो मैनेजमेंट का फंडा समझ में आया। तभी मुझे लगा कि सिविल सर्विस में जाना चाहिए।

फिलहाल मैं स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन में असिस्टेंट मैनेजर हूं। मुझे यहीं काम करने से महसूस हुआ कि सिविल सर्विस बेहतर है। सर्विस में आने के बाद मुझे पीएससी जैसे पदों ने अट्रैक्ट किया। मैंने किसी विशेष नोट को लेकर पढ़ाई नहीं की, बल्कि मैंने अक्सर मोबाइल, इंटरनेट और दोस्तों से फोन पर बातचीत करके की सफलता अर्जित कर ली।

यह कहना है छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग (CGPSC 2018 Result) सिविल सर्विस की टॉपर अनिता सोनी का। अनिता सोनी रायपुर की बेटी तो हैं ही, उन्होंने पीएससी में प्रथम स्थान हासिल करके अपने घर, परिवार और रिश्तेदारों का नाम रोशन किया है।

अनीता ने कहा कि मेरी सफलता के पीछे ईश्वर का आशीर्वाद, मां भगवती सोनी और पिता आरएस सोनी का सपोर्ट रहा। मेरे गुस्र्जनों और भाई-बहनों ने मेरा नैतिक बल बढ़ाया। मैंने नेट, फोन और दोस्तों से संपर्क करके पढ़ाई पूरी की।

परिवार वालों ने कभी निराश नहीं होने दिया। कभी किसी ने ताना नहीं दिया कि तुम बेटी हो। मेरे घर में बेटा-बेटी का कोई अंतर नहीं रहा। शुरू से ही पढ़ाई के लिए मुझे बहुत बल मिला। बड़ों का प्यार और भाई-बहन के साथ ने सफलता दिलाई है।