नरेंद्र गिरी की मौत का मामला: स्पेशल सीजीएम कोर्ट में पेश हुए आनंद गिरि और आद्या तिवारी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

शेयर करें:


प्रयागराज. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में उनके शिष्य आनंद गिरि और लेटे हुए हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी को स्पेशल सीजेएम कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है. दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश सीजेएम हरेंद्र नाथ ने दिया है. भारी सुरक्षा के बीच पुलिस दोनों को नैनी जेल लेकर रवाना हुई. अब अग्रिम पूछताछ के लिए पुलिस दोनों आरोपियों को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल कर सकती है.

आनंद गिरि ने कहा-सत्यमेव जयते
बता दें कि इस मामले में पुलिस ने सुसाइड नोट को ही आधार माना है. पुलिस इस सुसाइड नोट को खुला केस मान रही है. इसके आधार पर ही पुलिस ने आनंद गिरी और आद्या तिवारी की गिरफ्तारी की है. इससे पहले भारी सुरक्षा के बीच आनंद गिरि और आद्या तिवारी को स्पेशल सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया. वहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया. इस दौरान आनंद गिरि ने कहा-सत्यमेव जयते.

दो दिन पूर्व मिला था महंत का शव
बता दें कि दो दिन पूर्व महंत नरेंद्र गिरि का शव फांसी के फंदे पर उनके मठ के कमरे में लटका मिला था. पुलिस को वहां से सुसाइड नोट मिला था. यूपी पुलिस का विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है. खुद सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने मामले की पूर्ण निष्पक्ष और बारीकि से जांच की बात कही है.