अमित शाह ने हिंसा के लिए विपक्ष को ठहराया जिम्मेदार

शेयर करें:

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने बंद के दौरान हिंसा के लिए कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार, कहा कांग्रेस ने अपने शासन काल में दलितों के कल्याण के लिए नहीं किया कुछ भी काम सरकार ने एकबार फिर से साफ किया है कि वो दलितों के हितों और अधिकारों की रक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

खुद केन्द्रीय गृहमंत्री ने संसद में कहा कि सरकार की तत्परता पर किसी तरह का संदेह नहीं किया जा सकता। वहीं, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी SC/ST समुदाय से नए भारत की राह में कंधे से कंधा मिलाने की बात कही जो सरकार के हर कदम में दिखता है।मामले में कांग्रेस भी कठघरे में घिरती नज़र आई।

एससी एसटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट की ओर से किए गए बदलावों को लेकर देश में जारी राजनीतिक विवाद के बीच सरकार ने फिर से साफ किया है कि वो दलितों के हितों और अधिकारों की रक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और वो अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निरोधक कानून को किसी भी तरह से कमजोर नहीं होने देगी। मंगलवार को लोकसभा में इस मसले पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बयान दिया और कहा कि सरकार दलितों के हितों की पूरी रक्षा करेगी।

विपक्षी सदस्यों की ओर से सदन में जारी नारेबाजी के बीच गृहमंत्री ने कहा कि इस मामले में सरकार की तत्परता पर किसी तरह का संदेह नहीं किया जा सकता। उन्होंने देश में शांति व्यवस्था बनाये रखने में राजनीतिक दलों का सहयोग मांगा और देश को भरोसा दिया कि आरक्षण को लेकर फैलायी जा रही अफवाहें निराधार हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी कहा है कि सरकार दलितों की हितों की रक्षा के लिए काम कर रही है। एक के बाद एक कई ट्वीट में उन्होंने कहा – बीजेपी हर कदम पर और हर संभव तरीके से दलित समुदाय के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है ।

मोदी सरकार बाबा साहब के सपनों को साकार करने की प्रतिबद्धता पर काम कर रही है। सरकार का हर कदम दलितों की जिंदगी बदलने के लिए उठाया गया है । एससी-एसटी उत्‍पीड़न रोकथाम विधेयक 2015 के जरिए एनडीए सरकार वास्‍तव में कानून के प्रावधानों को मजबूत बनाया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दलित सांसदों से मुलाकात की थी और उन्हें भरोसा दिया था कि दलित भाइयों और बहनों के हितों और उनके कल्याण के लिए सरकार सब कुछ कर रही है ।

अमित शाह ने दलित मुद्दे के जरिए कांग्रेस पर जोरदार हमला किया और कहा- पीएम मोदी के डीएनए का मजाक उड़ाने वाली यह वही कांग्रेस पार्टी है जिसने आंबेडकर को एक नहीं दो बार हरवाया । उनकी तस्वीर को सेंट्रल हाल में नहीं रखने देने के लिए आधारहीन दलीलें दी ।उन्हें भारत रत्न देने से भी इनकार किया। उनकी नकारात्‍मक राजनीति को भारत देखता आ रहा है।

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी अपने दलित भाईयों और बहनों को नए भारत का निर्माता बनाने के लिए प्रयास जारी रखेगी और उनके आकांक्षाओं और सपनों को पूरा करेगी । गौरतलब है कि मई 2014 में एनडीए सरकार के आने के बाद से ही केंद्र ने सबका साथ सबका विकास के नारे पर अमल करते हुए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिय़े तमाम कल्याणकारी कदम उठाये हैं । इन मुद्रा बैंक लोन ,राष्ट्रीय एससी / एसटी हब ,अनुसूचित जातियों के लिए वेंचर कैपिटल फंड की एक वेबसाइट और वनबंधु कल्याण योजना जैसे कदम शामिल हैं ।