तस्वीरें बता रही है पंजाब की राजनीति में कुछ बड़ा होने की संभावना, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आज मिल सकते हैं अमरिंदर सिंह

शेयर करें:

पंजाब में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) आज (28 सितंबर) दिल्ली पहुंच रहे हैं. अमरिंदर सिंह से पहले उनके वफादार पूर्व मंत्री और कांग्रेसी नेता (Congress Leaders) दिल्ली में इकट्ठा हो चुके हैं. इससे उम्मीद लगाई जा रही है कि पंजाब के राजनीतिक (Punjab Politics) घटनाक्रम में कुछ बड़ा हो सकता है.

अमित शाह-जेपी नड्डा से कर सकते हैं मुलाकात
कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) अपने दिल्ली दौरे के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) से मुलाकात कर सकते हैं. इसको लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जाने लगी हैं. बता दें कि इसी महीने नवजोत सिंह सिद्धू के साथ चल रहे विवाद के बाद बाद अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस ने इसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया था.

अलग पार्टी बनाने के भी लगाए जा रहे कयास
सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कहा था कि अपमानित महसूस किया था, जिसके बाद यह फैसला लिया. इसके साथ ही उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का खुलकर विरोध किया था और कहा था कि वह सिद्धू को सीएम नहीं बनने देंगे. अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वह सिद्धू के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारेंगे. इससे कयास लगाए जा रहे थे कि वह पंजाब में अपनी अलग पार्टी भी बना सकते हैं.

पंजाब में मंत्रियों को विभागों का हुआ बंटवारा
इस बीच पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी (Charanjit Singh Channi) ने नई कैबिनेट के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है. उपमुख्‍यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को गृह विभाग, सहकारी और जेल विभाग दिया गया है, जबकि दूसरे उपमुख्‍यमंत्री ओपी सोनी को स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण विभाग और पूर्व सैनिक कल्‍याण व स्‍वतंत्रता सेनानी कल्‍याण विभाग की जिम्मेदारी दी गई है. इसके अलावा मनप्रीत सिंह बादल को वित्‍त विभाग सौंपा गया है, जबकि सीएम चन्‍नी ने अपने पास कार्मिक, विजिलेंस, सामान्‍य प्रशासन सहित 14 विभाग रखे हैं.