अपना परिवेश स्वच्छ रखने संकल्पित हों सभी – राज्य मंत्री जैन

शेयर करें:

जबलपुर @ प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री शरद जैन ने कहा कि हम सभी को अपने परिवेश को स्वच्छ रखने के लिए संकल्पित होना चाहिए तभी बीमारियां कम होंगी और समृद्धि का मार्ग भी प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि देवता भी वहीं वास करते हैं जहां स्वच्छता होती है।

जैन आज यहां विक्टोरिया हॉस्पिटल परिसर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर आयोजित स्वच्छता पखवाड़े के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उद्बोधन दे रहे थे। उन्होंने कहा कि हमें स्वच्छता पखवाड़े में हाथ में लिए गए कार्यों को आगे बढ़ाना होगा। इसमें सभी का योगदान अपेक्षित है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वच्छ, समृद्ध और स्वाभिमानी भारत का प्रधानमंत्री का संकल्प तभी मूर्तिमान होगा जब हम सभी मिलकर इस दिशा में काम करेंगे। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने स्वच्छता के महत्व को रेखांकित किया था। सरकार ने स्वच्छ भारत की उनकी संकल्पना को साकार रूप देने की दिशा में महत्वपूर्ण पहल की है।

कार्यक्रम में महापौर डॉ. स्वाति गोडबोले ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्वान पर स्वच्छता ही सेवा अभियान के लिए सभी लोगों ने मिल-जुल कर काम किया। तथापि हमें यह याद रखना होगा कि स्वच्छता के लिए हमें सतत् रूप से काम करना होगा। उन्होंने कहा कि केवल एक दिन या पखवाड़े में स्वच्छता पर ध्यान केन्द्रित करने से ही बात नहीं बनेगी वरन् हमें स्वच्छता के लिए अपने प्रयत्न सदैव जारी रखने होंगे। महापौर ने जनसामान्य से स्वच्छता को एक आदत के रूप में अपनाने का आह्वान किया ताकि सभी स्वच्छ रहें और स्वस्थ बनें।

विधायक अंचल सोनकर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूरे देश को स्वच्छता के लिए प्रतिबद्ध बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण पहल की है। यह जरूरी है कि जन-जन स्वच्छता के लिए संकल्पित और समर्पित हो। हम सबको महात्मा गांधी और शास्त्री जी की जयंती के इस पावन अवसर पर देश को स्वच्छ और स्वस्थ रखने के लिए प्रतिबद्ध होना होगा। सोनकर ने आशा व्यक्त की कि प्रत्येक नागरिक अपने परिवेश की स्वच्छता बनाए रखने के प्रति जागरूक होगा और इस दिशा में सतत् रूप से प्रयत्नशील रहेगा।

इस मौके पर पूर्व मंत्री चन्द्रकुमार भानोट ने कहा कि गांधी जी ने स्वच्छता पर हमेशा जोर दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री द्वारा भारत को स्वच्छ बनाने का बीड़ा उठाने को प्रशंसनीय बताया। स्वच्छता की दिशा में जिले में किए गए कार्य की सराहना करते हुए भानोट ने राज्य मंत्री जैन और जिला प्रशासन को बधाई भी दी। इस मौके पर कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी ने कहा कि स्वच्छता पखवाड़े के दौरान जिले को खुले में शौच से मुक्त करने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए गए। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में हर घर में शौचालय निर्माण सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन संकल्पबद्ध है।

समारोह में स्वच्छता ही सेवा अभियान के दौरान उल्लेखनीय कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को पुरस्कृत किया गया। अभियान के अन्तर्गत जिले की प्रत्येक जनपद पंचायत के अन्तर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों के सरपंचों को मुख्य अतिथि स्वास्थ्य मंत्री जैन ने पुरस्कार प्रदान किए। प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान हासिल करने वाली पंचायतों को क्रमश: 50 हजार, 40 हजार एवं 30 हजार रूपए बतौर पुरस्कार प्रदान किए गए। अभियान में उल्लेखनीय भूमिका के लिए भेड़ाघाट के नगर निरीक्षक पुलिस एम.डी. नागोतिया तथा अन्य शासकीय अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राज्य मंत्री जैन ने दिव्यांगजन को श्रवण यंत्र, बैशाखी, व्हील चेयर, ट्राइसाइकिल, ब्लाइंड स्टिक तथा अन्य सहायक उपकरण वितरित किए। जिला नि:शक्त पुनर्वास केन्द्र द्वारा सहायक उपकरणों के लिए दिव्यांगों का चिन्हांकन भी किया गया। कार्यक्रम में एमआईसी सदस्य इन्द्रजीत कौर के अलावा सीईओ जिला पंचायत हर्षिका सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुरली अग्रवाल, सिविल सर्जन डॉ ए.के. सिन्हा तथा प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एम.एस. मरकाम भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन जबलपुर जनपद के सीईओ मनोज सिंह ने किया।