तीन दिवसीय जैविक-आध्यात्मिक कृषक सम्मेलन के आयोजन को लेकर कृषि मंत्री ने पत्रकारों को दी जानकारी

शेयर करें:

बालाघाट @ आगामी 07 से 09 मार्च 2018 तक बालाघाट में जैविक एक्सपो-2018 का आयोजन किया जा रहा है। तीन दिवसीय इस राज्य स्तरीय जैविक-आध्यात्मिक कृषक सम्मेलन के आयोजन को लेकर मध्यप्रदेश शासन के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने आज 03 मार्च को पत्रकारा वार्ता में पत्रकारों को जानकारी दी और इस आयोजन को सफल बनाने में योगदान देने की अपील की।

कृषि मंत्री बिसेन ने पत्रकारों को बताया कि तीन दिन के इस आयोजन में कृषकों को जैविक खेती की नवीनतम तकनीक, जैविक उत्पाद, उन्न्त कृषि उपकरण, आदि का जीवंत प्रदर्शन किया जायेगा। इस आयोजन के दौरान बड़ी संख्या में प्रदेश के सभी जिलों से जैविक खेती करने वाले प्रगतिशील किसान और जैविक उत्पाद क्रय करने वाली कंपनियां भी बालाघाट आयेंगी। इस मेले का शुभारंभ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की उपस्थिति में किया जायेगा। इस मेले में किसानों से सीधा संवाद कायम करने एवं उन्हें जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित करने आर्ट आफ लिविंग के प्रणेता एवं आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर जी भी बालाघाट पधार रहे है।

कृषि मंत्री बिसेन ने बताया कि देश के कुल जैविक उत्पाद का 40 प्रतिशत जैविक उत्पाद मध्यप्रदेश में पैदा होता है। मध्यप्रदेश शासन ने प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में जैविक उत्पाद के विक्रय के लिए पृथक से व्यवस्था कर एक शेड बनाया है। इससे जैविक उत्पादों को बाजार मिलेगा। बालाघाट में 10 करोड़ रुपये की लागत से जैविक उत्पाद की कृषि मंडी का कार्य पूर्णता की ओर है। मंत्री बिसेन ने बताया कि जैविक उत्पाद के लिए बाजार उपलब्ध कराने की जरूरत है। बाजार में जैविक उत्पाद की मांग बढ़ने के साथ ही किसान जैविक उत्पादन पर अधिक ध्यान देने लगेंगें।

कृषि मंत्री बिसेन ने पत्रकारों को बताया कि बालाघाट जिले का यह सौभाग्य है कि यहां पर राज्य स्तरीय तीन दिन का जैविक-आध्यात्मिक कृषक सम्मेलन का आयोजन हो रहा है। इस सम्मेलन में जैविक कृषि के विशेषज्ञ और वैज्ञानिक भी आ रहे जो किसानों से सीधा संवाद करेंगें और मार्गदर्शन देंगें।