Skip to content

मायावती के बाद सोनिया ने भी किया लालू यादव से किनारा, अब केवल शरद यादव का सहारा

इस ख़बर को शेयर करें:

पटना : केंद्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की मुहिम में उनके साथी इनका साथ छोड़ते जा रहे हैं. महागठबंधन में चल रही रस्साकशी के बीच लालू यादव ने अपनी रैली ‘भाजपा भगाओ-देश बचाओ रैली’ का एलान किया था, लेकिन लालू को करारा धक्का तब लगा है, अब विपक्ष के दिग्गज नेताओं ने भी लालू की रैली से किनारा कर लिया है.

बसपा प्रमुख मायावती के रैली में शामिल होने से इनकार के बाद खबरें आ रही हैं कि सोनिया गांधी या उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस रैली में शामिल नहीं होंगे. पटना में प्रेस वार्ता के दौरान लालू ने इस बात की पुष्टि की है. वहीं मुलायम रैली में अखिलेश के साथ दिखेंगे इसकी उम्मीद भी कम है.

लालू यादव ने बताया कि कांग्रेस राजद का समर्थन करती है और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद 27 अगस्त को पटना में आयोजित रैली में हिस्सा लेंगे. राहुल के रैली में आने पर असमंजस बना हुआ है. वहीं, मायावती की जगह सतीश मिश्रा रैली में शामिल होने वाले हैं. बताया जा रहा है कि इस रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी हिस्सा ले रहे हैं.

बता दें कि कांग्रेस और वाम दल के अलावा अब तक इस रैली को लेकर अन्य किसी दल ने अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं की है. हालांकि लालू ने इस रैली के लिए बीजेपी विरोधी 18 दलों को निमंत्रण भेजा गया है. ममता ने पहले जरूर पटना आने की बात कही थी, लेकिन उनके ताजा बयान प्रधानमंत्री मोदी के प्रति उनके नरम रुख को दिखा रहा है.