युवाओं के लिये रोजगार की संभावनायें बढ़ाने आक्रामक रणनीति अपनायें

शेयर करें:

जबलपुर @ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में रोजगार प्रदान करने वाले सभी विभागों के जिला अधिकारियों की बैठक लेकर युवाओं के लिये रोजगार की संभावनायें बढ़ाने जिला स्तर पर तैयार किये गये रोडमेप के अनुसार आक्रामक रणनीति बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये है।

शर्मा ने बैठक में कहा कि रोजगार से जुड़े विभागों को ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार देने वाले क्षेत्रों की पहचान करनी होगी तथा आवश्यकता के अनुरूप युवाओं को प्रशिक्षित करना होगा। कलेक्टर ने कहा कि हमारा लक्ष्य हर माह कम से कम पांच हजार लोगों को रोजगार मुहैया कराना होना चाहिये। इसके लिये सभी विभागों को मिलकर बेहतर रणनीति बनानी होगी तथा सूचनाओं को आपस में साझा करना होगा।

शर्मा ने बैठक में जबलपुर में 15 जनवरी को आयोजित किये जा रहे जिला स्तरीय जॉब फेयर की तैयारियों की समीक्षा भी की। उन्होंने जॉब फेयर में प्लेसमेंट के लिये आने वाली कंपनियों की आवश्यकता के अनुरूप योग्य एवं कुशल युवाओं को चिंहित करने के लिये जनपद स्तर पर शिविर लगाने और उनकी काउंसलिंग करने के निर्देश दिये। शर्मा ने बैठक में अभी तक आयोजित किये गये रोजगार मेलों के माध्यम से युवाओं को उपलब्ध कराये गये रोजगार की जानकारी भी ली।

कलेक्टर ने बैठक में ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित रोजगार मूलक कार्यों के तहत प्राप्त उपलब्धियों तथा शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में पथ विक्रेताओं को लाभांवित करने चलाई जा रही क्रमश: प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना एवं मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेण्डर योजना की प्रगति का ब्यौरा भी लिया।

कलेक्टर ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने हर माह जॉब फेयर आयोजित किये जाने की तैयारी भी करें तथा प्लेसमेण्ट की इच्छुक कंपनियों से सम्पर्क कर उनकी जरूरतों का आंकलन करें। उन्होंने प्री केम्पस ड्राइव के आयोजन का सुझाव भी अधिकारियों को बैठक में दिया।

बैठक में उद्योग, ग्रामीण विकास, रोजगार एवं कौशल विकास, जिला शहरी विकास अभिकरण, उद्योग विभाग, मतस्य पालन, पशुपालन, ग्रामीण आजीविका मिशन, उद्यानिकी आदि विभागों के अधिकारी मौजूद थे।