जबलपुर : एनएसए अपराधी कोरोना पॉजिटिव अस्पताल से फरार एसपी ने घोषित किया 10 हजार का इनाम

शेयर करें:

जबलपुर। इंदौर में पुलिस जवानों पर हमला करने वालें आरोपियों पर कलेक्टर इंदौर ने एनएसए की कार्यवाही की थी जिसके बाद इन आरोपियों को जबलपुर और रीवा की जेल में शिफ्ट किया गया था।

जबलपुर का एक एनएसए अपराधी जावेद खान कोरोना वायरस का पॉजिटिव केस निकला था। जावेद खान को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड (isolation ward) में भर्ती किया गया था पर यही आरोपी आज मौका देखकर मेडिकल कॉलेज से फरार हो गया है।

आरोपी पर एसपी ने किया 10000 रु का इनाम घोषित
आरोपी के मेडिकल कॉलेज से फरार होने की सूचना जैसे ही जिला प्रशासन को मिली वैसे ही पुलिस और प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग का अमला उसे तलाश करने में जुट गया। हालांकि कई घंटे बीत जाने के बावजूद अभी तक जावेद खान का कुछ पता नहीं चल पाया है, वहीं एसपी अमित सिंह ने जावेद खान का पता बताने वालों पर 10000 रु का इनाम घोषित किया है।

कोरोना वायरस  पॉजिटिव मरीज है आरोपी
मूलतः इंदौर का रहने वाले जावेद खान ने अपने साथियों के साथ मिलकर  इंदौर में पुलिस पर पत्थर से हमला किया था। इस घटना के बाद इंदौर कलेक्टर ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने पत्थरबाजों को गिरफ्तार भी कर लिया जिसके बाद उन्हें एनएसए की सजा के तहत जबलपुर और सतना की जेल में शिफ्ट किया था।

जबलपुर की जेल में चार पत्थरबाजों को शिफ्ट किया गया था इन पत्थरबाजों में से एक जावेद खान हैं जो कि कोरोना वायरस पॉजिटिव है। इस जावेद खान को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था। रविवार को मौका देखते ही जावेद खान वहां से फरार हो गया जिसकी पुलिस लगातार तलाश कर रही है।

आरोपी जल्द नहीं मिला पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ने का अंदेशा
जबलपुर में बीते चंद दिनों के अंदर ही करीब 8 से ज्यादा पॉजिटिव केस मिले हैं। इन केस को स्वास्थ्य विभाग का अमला जहां ठीक करने में जुटा हुआ था वहीं अब जावेद खान की समस्या जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के सामने आ गई है। यही वजह है कि एसपी अमित सिंह ने जावेद खान पर 10,000 रु का इनाम घोषित किया है।

अगर जल्द ही पत्थरबाज जावेद खान प्रशासन की गिरफ्त में नहीं आया तो माना जा सकता है कि यह आरोपी अपने कॉन्टेक्ट में आने वालों के कारण कोरोना वायरस पॉजिटिव की संख्या और बढ़ा सकता है । बहरहाल पुलिस प्रशासन ने शहर की तमाम सीमाओं को सील कर दिया है।