बिहार : शिक्षा का मंदिर हुआ शर्मशार स्कूल में सात माह से नाबालिग छात्रा से 18 लोग कर रहे थे गैंगरेप

शेयर करें:

छपराः बिहार में शिक्षा के मंदिर में घिनौना काम किया गया है. छपरा जिले में एक निजी स्कूल में पढ़ने वाली 9वीं की नाबालिग छात्रा से गैंग रेप का मामला सामने आया है. छपरा के परसागढ़ में एक निजी स्कूल में पढ़ाई करने वाली 9वीं की छात्रा से सात माह से गैंग रेप किया जा रहा था. एकमा थाना के परसागड़ स्थित दिपेश्वर स्कूल की नाबालिग छात्रा से गैंग रेप किया जा रहा था.

नाबालिग छात्रा ने पुलिस को आवेदन देकर स्कूल के प्रिंसिपल, दो शिक्षक और 15 छात्रों के ऊपर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया है. छात्रा ने शिकायत कर कुल 18 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. शिकायत के बाद पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल उदय सिंह समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में प्रिंसिपल, एक शिक्षक और दो नाबालिग छात्र शामिल है.

खबरों के मुताबिक, नाबालिग छात्रा के साथ यह घिनौना काम बीते साल 2017 से हो रहा था. बताया जाता है कि स्कूल के तीन छात्रों ने उसके साथ टॉयलेट में रेप को अंजाम दिया और इस घिनौनी हरकत का वीडियो बना लिया. वीडियो के जरिए छात्रा को ब्लैकमेल किया जाने लगा. साथ ही दूसरे छात्रों से संबंध बनाने को मजबूर किया गया.

पीड़ित छात्रा ने जब स्कूल के प्रिंसिपल से इस बात की शिकायत की तो, प्रिंसिपर उदय सिंह ने घिनौनेपन की हद ही पार कर दी. उसने न केवल छात्रा की शिकायत को छिपाया बल्कि उसने भी छात्रा के साथ रेप किया. पीड़ित छात्रा के साथ 7 माह से बार-बार यह घिनौना काम हो रहा था.

परेशान होकर पीड़ित छात्रा ने पहले अपने परिजनों को सारी घटना बतायी और फिर पुलिस के पास मामला दर्ज कराया है. घटना सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए. मामले पर संज्ञान लेते हुए प्रिंसिपल उदय सिंह, शिक्षक बालाजी और दो छात्र मोहित और रोहित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. बाकि 14 आरोपी फरार हैं जिसे पकड़ने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है. पुलिस कुछ भी अभी बताने से इंनकार कर रही है.