राज्यपाल द्वारा नई केन्द्रीय जेल की हाई सिक्योरिटी व्यवस्था का औचक निरीक्षण

शेयर करें:

मन्दसौर @ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भोपाल की नई केन्द्रीय जेल का औचक निरीक्षण करने के बाद हाई स्क्योरिटी सेल में आतंकवादियों की दृष्टि से सुरक्षा के लिये किये गये पुख्ता इंतजाम तथा अन्य कैदियों को स्वास्थ्य, शिक्षण-प्रशिक्षण की उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं पर संतोष व्यक्त किया।

उन्होंने कैदियों से कहा कि रिहाई के बाद अपने परिवार की देखभाल करने के साथ बेटियों की शिक्षा की ओर विशेष ध्यान दें। राज्यपाल ने महिला कैदियों से मिली तथा उनके बच्चों को टाफियां वितरित कीं। जेल भ्रमण के दौरान राज्यपाल ने जेल परिसर में वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक जेल संजय चौधरी भी उपस्थित थे।

राज्यपाल आनंदीबेन जेल में महिला कैदियों को दिये जा रहे सिलाई, बुनाई, कढ़ाई और अन्य प्रशिक्षण की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने महिलाओं के गुड़िया केन्द्र का निरीक्षण किया। महिला कैदियों द्वारा तैयार वस्तुओं की बिक्री के लिए प्रचार-प्रसार की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने जेल में स्वच्छता तथा गार्डनिंग की प्रशंसा की। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कैदियों की उद्योग कार्यशाला और पुस्तकालय का भी निरीक्षण किया।

उद्योग केन्द्र में कैदियों द्वारा कूलर, कपड़ा बुनाई आदि के किये जा रहे कार्य देखे। आनंदीबेन पटेल ने जेल के रसोई घर का भी निरीक्षण किया तथा कैदियों दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता तथा मात्रा की जानकारी ली। उन्होंने भोजन व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किया। आनंदीबेन पटेल ने जेल अस्पताल में घायल तथा बीमार कैदियों से मुलाकात की और स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में कैदियों से ही पूछा। जेल में स्थित कला और साहित्य केन्द्र के निरीक्षण के दौरान केदियों ने आर्केस्ट्रा पर वंदेमातरम तथा भक्ति गीत प्रस्तुत किये।