पोर्ट ब्लेयर : 75 साल पहले जहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने आज़ाद हिंद फौज का झंडा फहराया था, उसी जगह पीएम ने फहराया 150 फीट ऊंचा तिरंगा

शेयर करें:

पोर्ट ब्लेयर : 75 साल पहले जहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने आज़ाद हिंद फौज का झंडा फहराया था, उसी जगह पीएम ने फहराया 150 फीट ऊंचा तिरंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंडमान-निकोबार द्वीप समूह की यात्रा के तहत पोर्ट ब्लेयर में हैं। प्रधानमंत्री के तौर पर ये उनकी पहली अंडमान-निकोबार यात्रा है। पीएम कार-निकोबार में त्सुनामी स्मारक जाएंगे और वहां पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। इसके अलावा अरोंग में एक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान का पीएम उद्घाटन किया और कुछ बुनियादी ढांचों से जुड़ी परियोजनाओं की नींव रखेंगे। आज पोर्ट ब्लेयर में उसी जगह 150 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया, जहां 75 साल पहले बोस ने आजाद हिंद फौज का झंडा फहराया था।

https://www.facebook.com/BJP4India/videos/840202239704986/

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की दो दिन की यात्रा कई मायनों में महत्वपूर्ण मानी जा रही है। प्रधानमंत्री यहां कार-निकोबार में त्सुनामी स्मारक जाएंगे और वहां पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री यहां ‘वॉल ऑफ लोस्ट सोल्स’ में एक स्मारक की नींव भी रखेंगे। इसके अलावा अरोंग में एक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान का पीएम उद्घाटन करेंगे और कुछ बुनियादी ढांचों से जुड़ी परियोजनाओं की नींव रखेंगे। इसके बाद वो एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

इसके बाद, प्रधानमंत्रीपोर्ट ब्लेयर के शहीद स्तंभ में श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे और शहर के सेल्यूलर जेल का दौरा करेंगे। यह जेल अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में स्थित है। जिसे अंग्रेजों ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को कैद रखने के लिए बनाई थी, यह काला पानी के नाम से भी जानी जाती है। साल 1896 में जेल को बनाने का काम शुरू हुआ था और 1906 में सेल्युलर जेल पूरी तरह बनकर तैयार हुआ।

प्रधानमंत्री पोर्ट ब्लेयर के साउथ पॉइंट पर हाई मास्ट ध्वज फहराएंगे। प्रधानमंत्री पोर्ट ब्लेयर के मरीना पार्क में नेताजी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री नेताजी स्टेडियम में स्मृति डाक टिकट, सिक्का और नेताजी सुभाष चन्द्र बोस द्वारा भारत की धरती पर तिरंगा फहराने की 75वीं वर्षगांठ पर फर्स्ट डे कवर जारी करेंगे।

प्रधानमंत्री अंडमान निकोबार द्वीपसमूह के लिए नवाचार और स्टार्टअप नीति जारी करेंगे। साथ ही वो 7 मेगावाट के सौर विद्युत संयंत्र और सौर ग्राम का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री अनेक विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे और वहां मौजूद लोगों को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह के दौरान में सेल्यूलर जेल भी जाएंगे।