मध्य प्रदेश में डेढ़ महीने में स्वाइन फ्लू के 59 मरीज मिले

शेयर करें:

भोपाल। मध्यप्रदेश में स्वाइन फ्लू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वाइन फ्लू और डेंगू-चिकनगुनिया से सावधानी बरतने के साथ-साथ इनसे बचाव के उपायों की सलाह दी जा रही है। कहा जा रहा है कि नागरिक हल्के से बुखार या सर्दी-खांसी होने पर जांच कराएं। इसके बावजूद लोग इन बीमारियों को नजरअंदाज कर रहे हैं और गंभीर बीमार होने पर अस्पतालों का रुख कर रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में एक जुलाई से अब तक एच-01 एन-01 के 298 संग्दिध मरीजों का परीक्षण किया गया। इनमें से 280 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। 59 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई।

रविवार को जबलपुर में रीवा जिले के 43 वर्षीय मरीज की मृत्यु के बाद इस अवधि में स्वाइन फ्लू से लोगों की मृत्यु संख्या आठ हो गई है। अभी 18 संग्दिध मरीजों की रिपोर्ट आना बाकी है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार स्वाइन फ्लू, डेंगू और चिकनगुनिया प्रकरणों की समीक्षा कर सभी जिलों को अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए जा रहे हैं।