जिले के 26 स्कूलो को विकसित किया जायेगा -सहायक आयुक्त आदिवासी विकास

शेयर करें:

बड़वानी @ जिले के 26 स्कूलो को मॉडल संस्था के रूप में विकसित किया जायेगा। जिससे दूर-दराज के क्षेत्रो में रहने वाले विद्यार्थियो को ओर बेहतर शिक्षा सुविधा मिल सके।

सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विवेक पाण्डेय ने उक्त घोषणा संकुल प्राचार्यो एवं खण्ड शिक्षा अधिकारियो की बैठक में की। जिला मुख्यालय पर आयोजित इस बैठक में सहायक आयुक्त ने बताया कि मॉडल के रूप में विकासखण्ड बड़वानी की संस्था शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़वानी, बालक हाई स्कूल बड़वानी, कन्या हाई स्कूल बड़वानी, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 2 बड़वानी, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिलावद, लोनसरा, बालकुआं, बोरलाय, हाई स्कूल तलून का, विकासखण्ड पाटी की संस्था बालक हाई स्कूल पाटी, हाई स्कूल ठान, उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पाटी का, विकासखण्ड राजपुर की संस्था उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कासेल, उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राजपुर का, विकासखण्ड ठीकरी की संस्था उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मण्डवाड़ा, कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ठीकरी, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुआं, बालक एवं कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अंजड़ एवं तलवाड़ा डेब का, विकासखण्ड सेंधवा की संस्था कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सेंधवा, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय धनोरा का, विकासखण्ड निवाली की संस्था कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय निवाली, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चाटली का, विकासखण्ड पानसेमल की संस्था हाईस्कूल दोंदवाड़ा, कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पानसेमल का विकास करने का निर्णय लिया गया है।

बैठक के दौरान सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ने सभी प्राचार्यो को न्यायालय में लंबित प्रकरणो में समय सीमा में जवाब प्रस्तुत करने, संस्था में पदस्थ चतुर्थ श्रेणी की नियुक्ति सक्षम अधिकारी द्वारा होने पर ही वेतन आहरण करने, संस्था में पुस्तकालय एवं प्रयोगशाला कक्ष को सुव्यवस्थित बनाने एवं नियमित संचालन करने के भी निर्देश दिये। साथ ही उन्होने सभी प्राचार्यो को निर्देशित किया कि वे अपनी संस्था में 10-10 ऐसे विद्यार्थियो का चयन कर उन्हे खेल परिसर में होने वाले प्रतियोगिता में भेजे, जिससे खेल परिसर बड़वानी एवं निवाली को बेहतर खिलाड़ी मिल सके।