भारत और स्विट्जरलैंड के बीच 2 समझौते

शेयर करें:

रेलवे में तकनीकी सहयोग को लेकर भारत और स्विट्जरलैंड के बीच आज 2 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्विट्ज़रलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लिउथर्ड की मौजूदगी में दोनों देशों के बीच इन समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किये गये।

इस दौरान अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु परिवर्तन को विश्व के लिए एक बड़ी चुनौती बताया। उन्होंने कहा कि भारत और स्विटजरलैंड पेरिस समझौते पर एक साथ काम करने पर सहमत हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वित्तीय लेनेदेन में पारदर्शिता एक बड़ी चुनौती है, और इससे निपटने के लिए स्विटजरलैंड के साथ सहयोग जारी है।

स्विटजरलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लिउथर्ड ने कहा कि भारत के साथ सूचनाओं के स्वत: आदान-प्रदान को लेकर उनका देश सहमत है। उन्होंने बताया कि इस साल के अंत तक स्विस संसद इस बारे में एक क़ानून भी पारित कर देगी।

समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर से पहले स्विट्ज़रलैंड की राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच कई अहम मुद्दों पर द्विपक्षीय वार्ता हुई। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी स्विस राष्ट्रपति से मुलाकात की।

इससे पहले स्विट्ज़रलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लिउथर्ड का आज सुबह राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति भवन में स्विस राष्ट्रपति की अगवानी की।