CBSE और ICSE बोर्ड की 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद, अब यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर कयास लगने शुरू

शेयर करें:

केंद्रीय माध्यिमक शिक्षा बोर्ड यानी CBSE की 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द किये जाने के बाद ICSC और हरियाणा बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला किया. इसके बाद अब यूपी बोर्ड की परीक्षा को लेकर कयास लगने शुरू हो गए हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने CBSE बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए इसे देश के सभी छात्रों के स्वास्थ्य और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम बताया है. माध्यमिक शिक्षा विभाग संभाल रहे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने मंगलवार को कहा कि जल्द ही राज्य के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 12वीं की परीक्षा के बारे में निर्णय लिया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने कोविड संक्रमण के दृष्टिगत सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने का निर्णय लिया है. यह निर्णय देश भर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दिशा में बढ़ाया गया महत्वपूर्ण कदम है. सभी छात्रों व अभिभावकों की ओर से प्रधानमंत्री जी का हार्दिक आभार.’ एक बयान में उप मुख्यमंत्री शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा CBSE की कक्षा 12वीं की परीक्षा के बारे में लिए गए निर्णय के बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 12 की परीक्षा के बारे में मुख्यमंत्री के साथ बैठक करने के बाद शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न असाधारण परिस्थितियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने वर्ष 2021 के लिए निर्धा रित उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं कक्षा की परीक्षाएं निरस्त करने का फैसला 29 मई को किया था. उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने शनिवार को एक बयान में कहा था कि इस निर्णय से 29,94,312 विद्यार्थी प्रभावित होंगे. उन्होंने 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को 11 में प्रोन्नत करने के लिए उत्तर प्रदेश मध्यमिक शिक्षा परिषद को विस्तृत दिशा-निर्देश बनाने को कहा है.

तब शर्मा ने बताया था कि 12वीं कक्षा की परीक्षा के महत्व तथा विद्यार्थियों के भविष्य पर इसके अंकों की भूमिका को देखते हुए अनुकूल परिस्थिति होने पर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की इंटरमीडिएट की परीक्षा जुलाई के द्वितीय सप्ताह में कराने का प्रस्ताव है. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के लिए इस वर्ष 26,10,316 विद्यार्थियों का पंजीकरण हुआ है. हालांकि, सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद अब उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की 12वीं की परीक्षा भी निरस्त होने की अटकलें लगाई जा रही हैं.