25 हजार का इनामी बदमाश पुलिस की गिरफ्त में

शेयर करें:

प्रयागराज :प्रयागराज प्रदेश सरकार गुंडे माफियाओं पर लगाम लगाने पर जहां जोर दे रही है वहीं प्रयाग राज पुलिस भी अपनी जी जान से मेहनत कर चूहे की तरह बिल में छुपे अपराधियों को ढूंढ ढूंढ कर निकाल रही है प्रयागराज पुलिस को एक और सफलता मिली राहुल वर्मा उर्फ कनक के रूप में| अच्युतानंद शुक्ला को गोली मारने वाले आशुतोष त्रिपाठी कि  मददगारों में राहुल वर्मा उर्फ कनक का नाम सबसे पहले था छात्रनेता सुमित शुक्ला उर्फ अच्युतानंद हत्याकांड के आरोपित राहुल वर्मा उर्फ कनक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बलिया के रहने वाले राहुल पर 25 हजार रुपये का पुलिस ने इनाम घोषित कर रखा था। अच्युतानंद शुक्ला को गोली मारने वाले आशुतोष त्रिपाठी के मददगारों में राहुल शामिल था। उसके पास से तमंचा और कारतूस बरामद हुआ है।31 अक्टूबर की रात पीसीबी हॉस्टल में छात्रनेता अच्युतानंद शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड में शामिल सीएमपी छात्रसंघ अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी, हरिकेश मिश्र और सौरभ उर्फ प्रिंस पर 50-50 हजार रुपये इनाम घोषित हुआ था। तीनों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया था।अच्युतानंद के हत्या के आरोपितों से पुलिस पूछताछ में राहुल वर्मा उर्फ कनक पुत्र नंदलाल वर्मा निवासी बगमरिया, रेवती, बलिया का नाम सामने आया था। वारदात के बाद  राहुल फरार हो गया था। तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।शनिवार की दोपहर इंस्पेक्टर कर्नलगंज अनूप सिंह को सूचना मिली कि राहुल सलोरी क्षेत्र में मौजूद है। सटीक सूचना पर कर्नलगंज पुलिस और क्राइम ब्रांच ने घेराबंदी कर राहुल को दबोच लिया। एसएसपी अतुल शर्मा के मुताबिक, राहुल की गिरफ्तारी करने वाली टीम को इनाम दिया जाएगा। राहुल का नाम अच्युतानंद शुक्ला हत्याकांड के आरोपितों की मदद करने में आया था। इसी ने मुख्य आरोपित को बस अड्डे तक पहुंचाया था।[ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज]