सामूहिक नकल करना पड़ा महंगा केंद्र अध्यक्ष सहित 12 शिक्षक निलंबित

शेयर करें:

दतिया।प्रदेश में बोर्ड की परीक्षाओं का वक़्त चल रहा है। इस बीच बोर्ड की दसवीं परीक्षा में नकल कराने का मामला सामने आया है। मामला है दतिया(DATIA) जिले के भांडेर का। जहां बडेरा सोपान केंद्र पर शिक्षक का समुहदल बच्चों को नकल करवा रहा था। जहां मामले की जांच के बाद केंद्राध्यक्ष सहित 12 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

बता दें कि भांडेर तहसील के बडोरा सोपान केंद्र पर दसवीं के गणित के पेपर की परीक्षा चल रही थी। जहां केंद्र अध्यक्ष के साथ मिलकर शिक्षक ही परीक्षार्थियों को नकल करवा रहे थे। वहीं परीक्षार्थियों के रिश्तेदार भी परीक्षा केंद्र के बाहर खड़े थे। जब इस संबंध में तहसीलदार नितेश भार्गव(NITESH BHARGAVA) को शिकायत की सूचना मिली तो वह तुरंत मौके पर पहुंचे। जवानों ने शिक्षकों को विद्यार्थियों को सामूहिक रूप से निकल करवाते रंगे हाथ पकड़ा। जिसके बाद तहसीलदार भार्गव ने प्रतिवेदन बनाकर कार्रवाई के लिए कलेक्टर को सौंप दिया। बताते चलें कि शनिवार को कलेक्टर रोहित सिंह ने एक्शन लेते हुए सोपान केंद्र के केंद्र अधीक्षक सहित 12 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही साथ डीईओ(DEO) ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इमेजिन शिक्षकों के नाम है इनमें जिन शिक्षकों के नाम है। उसमें केंद्र अध्यक्ष अवधेश शंखधार के अलावा भगवानदास जाटव, छोटे सिंह रायकवार, सीताराम पाल, हरिश्चंद्र राजपूत, बबलू यादव ज्ञानवती माहौर, प्रदीप कुमार, परशुराम सिंह धाकड़, रामकिशोर और सुरेश चन्द्र नामदेव पाल शामिल है।

गौरतलब हो कि बडेरा सोपान नकल के मामले में सालों से बदनाम है। इस केंद्र पर नकल के मामले में 1984 में मारपीट तथा हवाई फायरिंग तक हो चुकी है। वहीं कलेक्टर ने मामला संज्ञान में लेते हुए 12 शिक्षकों को निलंबित कर दिया है।