सफाई कर्मी और बीडीसी लूट कर चलाते हैं घर का खर्च

शेयर करें:

प्रयागराज : कोचिंग से घर जा रहे छात्र का मोबाइल छीनकर भाग रहे बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कर्रा करने पर उसने कई राज पुलिस के सामने उगले। पकड़े गए राम समुझ गौतम ब्लॉक में सफाई कर्मचारी है। जबकि, रामचरन पासी मान्धाता विकास खंड का क्षेत्र पंचायत सदस्य है। वह हत्या के आरोप में जेल भी जा चुका है। पुलिस के अनुसार दोनों ने स्वीकार किया कि लूट के माल और रुपये से परिवार का खर्च चलता है। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर दो अन्य बदमाशों को चोरी की बाइक व नकदी तथा लूट के जेवरात के साथ गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों ने पूछताछ में लूट की कई घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकार किया। पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया गया। मऊआइमा थाना क्षेत्र में पिछले तीन महीने से लूट व छिनैती की वारदात में बढ़ोतरी हुई। घटनाओं पर अंकुश लगाने में नाकाम रहने पर दो माह में दो थानेदारों को अपनी कुर्सी तक गंवानी पड़ी थी। 26 सितंबर को एसएसपी ने अपराधों पर अंकुश लगाने की मंशा से होलागढ़ के प्रभारी निरीक्षक अरुण चतुवर्दी को मऊआइमा थाने की कमान सौंपी। उन्होंने अपराधियो की कुंडली खंगालनी शुरू कर दी।मऊआइमा थाना के सीमावर्ती गांव छितपालगढ़ का रेहान पुत्र शौकत अली कंप्यूटर कोचिंग से छूटकर घर जा रहा था। वह रामफल इनारी पुलिस चौकी के पास पहुंचा था। इसी बीच अपाचे सवार दो बदमाशों ने उसका स्मार्टफोन छीन लिया। रेहान के शोर मचाने पर चौकी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने पीछाकर दुबाही नहर के पास एक को बाइक संग दबोच लिया। जबकि, उसका साथी भागने में कामयाब रहा। गिरफ्त में आए बदमाश ने पूछताछ के दौरान अपना नाम लोकेंद्र कुमार सरोज पुत्र कमलेश सरोज निवासी तिलई बाजार घीनपुर बताया। साथी का नाम लवकुश पासी निवासी वैसपुर थाना मान्धाता प्रतापगढ़ बताया। पुलिस के कर्रा करने पर उसने बताया कि उसके गैंग में संदीप कुमार निवासी मान्धाता भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि उसने पूछताछ के दौरान स्वीकार किया कि 14 सितंबर को हरिसेनगंज बाजार में सहज सेवा केंद्र संचालक दिलीप मौर्या से लूट और 23 अगस्त को बसरही गांव के पास सराफा व्यवसायी शंकरलाल सोनी से हुई लूट की घटना में भी वह शामिल थे। पकड़े गए बदमाश के निशानदेही पर रामचरन पुत्र जगई व राम समुझ गौतम पुत्र क्लेसर प्रसाद निवासी गोविंदपुर लिलौली थाना मान्धाता प्रतापगढ़ को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया। पकड़े गए दोनों बदमाशों के पास से 20 हजार नगद एक बाइक व लूटे गये चांदी के जेवरात बरामद किया गया। लिखापढ़ी के बाद पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक अरुण चतुर्वेदी ने बताया कि फरार चल रहे लवकुश पासी व संदीप की पुलिस तलाश कर रही है। [ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज ]