कारगिल युद्ध की 20वीं वर्षगांठ, भारतीय सेना ने टाइगर हिल पर फहराया था तिरंगा

शेयर करें:

पूरे देश भर में आज कारगिल विजय दिवस की 20वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है। आज ही के दिन भारतीय सेनाओं ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए कारगिल की दुर्गम पहाड़ियों पर पाकिस्तानी सेनाओं को धूल चटाई थी। भारतीय सेनाओं ने अपने जान की बाजी खेल कर भारत माता का मस्तक दुश्मनों के सामने झुकने नहीं दिया और युद्ध में वियज हासिल की।

क़रीब 20 साल पहले की बात है, जब कारगिल की पहाड़ों पर चढ़ आए दुश्मन को भारतीय वायुसेना में सबक सिखाने का फैसला लिया था। 24 जून 1999 ही दिन था, जब भारतीय वायुसेना ने कारगिल युद्ध में लेज़र गाइडेड बम से टाइगर हिल पर पाकिस्तानी बंकरो पर अचूक निशाना लगाया। इस हमले ने न सिर्फ दुश्मनों के हौसलों को पस्त कर दिया बल्कि, भारतीय थल सेना को जीत की राह दिखा दी।

ये कारगिल युद्ध ही था जब पहली बार लेज़र गाइडेड बम का वायुसेना ने इस्तेमाल किया गया और इसके किए फाइटर एयरक्राफ्ट मिराज 2000 में ज़रूरी बदलाव किए गए, वो भी रिकॉर्ड 12 दिन में।

अभी हाल ही में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश के ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राईक में भी जंगी जहाज मिराज-2000 ने ही मुख्य भूमिका निभाई थी और अब वायुसेना भविष्य की चुनौतियों के हिसाब से इन्हें अपग्रेट भी कर रही है।