सिद्दारमैया पर बरसे अमित शाह

शेयर करें:

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया पर लगाया फूट डालो और राज करो की अंग्रेजों की नीति पर चलने का आरोप, कहा येद्दुरप्पा को मुख्यमंत्री बनने से रोकने के लिए कांग्रेस ने खेला है ‘लिंगायत कार्ड’। शाह आज भी कई कार्यक्रमों में लेंगे हिस्सा।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के दो दिन के दौरे पर हैं। कर्नाटक में कुछ दिनों बाद होने वाले विधानसभा चुनाव और कांग्रेस के ‘लिंगायत कार्ड’ को देखते हुए शाह का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। शाह ने सबसे पहले लिंगायत समुदाय के संत श्री शिवकुमार स्वामी से मिलकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। बाद में उनहोंने तिपतूर में नारियल उत्पादकों के सम्मेलन को संबोधित किया और कहा कि पिछले चार साल में केंद्र की मोदी सरकार ने नारियल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 40 फीसदी तक बढा दिया है। अमित शाह आज बेंक्ककल, श्रृंगेरी और मुरुगा मठों में जाएंगे।

अगले कुछ महीनों में कर्नाटक में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में सियासी पारा चरम पर है । सोमवार को दो दिन के कर्नाटक दौरे पर पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने तमाम कार्यक्रमों में शिरकत की । अमित शाह ने दौरे की शुरुआत टुमकुरू के सिद्धगंगा मठ के दौरे से किया जहां उन्होंने लिंगायत समुदाय के संत श्री शिवकुमार स्वामी से मिलकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया । बीजेपी अध्यक्ष ने उनके दीर्घायु होने की कामना की और शिक्षा के जरिए समाज के सभी वर्गों को साथ लाने के उनके प्रयासों को सराहा।अमित शाह ने कहा कि स्वामी जी का आशीर्वाद ताकत बढ़ाने वाला और ऊर्जा देने वाला है ।

इसके बाद अमित शाह नारियल उत्पादकों से मिलने के लिए पहुचे । उन्होंने तिपतूर में नारियल उत्पादकों के सम्मेलन को संबोधित किया और कहा कि पिछले चार साल में केंद्र की मोदी सरकार ने नारियल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 40 फीसदी तक बढा दिया है । उन्होंने कहा कि सरकार ने हाल ही में फैसला किया है कि एमएसपी अब उत्पादन मूल्य का डेढ गुना दिया जाएगा लेकिन किसान विरोधी सिद्धारमैया सरकार किसानों ने सही एमएसपी पर नारियल नहीं खऱीद रही है ।

अमित शाह का अगला कार्यक्रम कुप्पाली के कविशैला का था जहां उन्होंने महान कवि और ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित राष्ट्रकवि कुवेम्पू के मेमोरियल का दौरा किया और श्रद्धांजलि अर्पित की । अमित शाह ने उनके घर भी गए और कवि कुवेम्पू को देश की महान साहित्यतिक विरासत का प्रतीक बताया । इसके बाद उन्होंने शिमोगा में सुपाडी उत्पादकों के सम्मेलन में भी हिस्सा लिया । अमित शाह ने शिमोगा में रोड शो में भी हिस्सा लिया जिसमें भारी भीड़ उमडी । उनकी अगली मंजिल थी व्यापारियों का सम्मेलन जहां उन्होंने उनकी समस्याएं जानी और सरकार की ओर से उनके लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी दी ।

मध्य कर्नाटक के अपने दौरे के तहत अमित शाह मंगलवार को बेंक्ककल, सिरगेरे और मुरुगा मठों में जाएंगे। कर्नाटक में कुछ दिनों बाद होने वाले विधानसभा चुनाव और कांग्रेस के ‘लिंगायत कार्ड’ को देखते हुए शाह का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।