वाराणसी-गाजीपुर फोरलेन पर यातायात के लिए अभी तीन महीने और करना होगा इंतजार

शेयर करें:

वाराणसी. वाराणसी से गाजीपुर फोरलेन पर यातायात के लिए अभी तीन महीने और इंतजार करना होगा. इस सड़क पर मार्च में वाहन आ-जा सकेंगे. सरकार की तरफ से कहा गया था कि फोरलेन का निर्माण सितंबर 2020 में ही पूरा कर लिया जाएगा. 86850 करोड़ की परियोजना के तहत फोरलेन का लगभग 95 फीसदी काम पूरा हो गया है. अधूरी सर्विस रोड तेजी से बन रही है. यह फरवरी में पूरी हो जाएगी.

वाराणसी- गाजीपुर फोरलेन की परियोजना 2017 में शुरू हुई थी. फोरलेन का निर्माण सितंबर.2020 में पूरा होना था मगर भूमि मिलने में रुकावट के चलते इसमें दिक्कत हुई थी. इसी लिए निर्माण कार्य प्रभावित प्रभावित हुआ. वाराणसी से गाजीपुर तक 72 किमी फोरलेन पर सात अंडर पास बनाए गए हैं.

ये नंदगज, महाराजगंज, मार्कंडेय महादेव तथा सैदपुर में बने हैं, सैदपुर तथा नंदगज में दो स्थानों पर आरओबी बनाए गए हैं. इनका भी निर्माण पूरा हो चुका है. सिर्फ रेलवे का कुछ काम बाकी है. वहीं गाजीपुर से गोरखपुर तक 140 किलोमीटर तक फोरलेन का निर्माण चल रहा है. इसमें भी जमीन के अधिग्रहण का मामला फंसा था. गाजीपुर से गोरखपुर फोरलेन का निर्माण कार्य भी प्रगति पर है. दिसंबर 2021 में इस पर भी आवागमन शुरू होने का एनएचआई ने दावा किया है.