एसएसपी नितिन तिवारी ने दबोचा सरकारी रायफल चोर को

शेयर करें:

इलाहाबाद मंडल :प्रयागराज: असलहे से लैस दो पुलिसकर्मियों पर एक शख्स भारी पड़ा। बंदी की अभिरक्षा में तैनात सिपाहियों की लापरवाही का फायदा उठाते हुए एक युवक सरकारी इंसास रायफल लेकर भाग निकला। गनीमत रही कि उसे करीब आधे घंटे बाद ही दबोच लिया गया। सिपाही पर निलंबन की कार्रवाई तय मानी जा रही है। जार्जटाउन पुलिस ने दो माह पहले बाइक चोरी के आरोप में कटरा निवासी प्रवीण प्रजापति को गिरफ्तार किया था। कोर्ट में पेशी के दौरान वह तीसरी मंजिल से कूद गया था। तब से उसका इलाज तेज बहादुर सप्रू (बेली) अस्पताल में चल रहा है। बुधवार रात उसकी अभिरक्षा में जार्जटाउन थाने के सिपाही देवी प्रसाद सिंह व पवन कुमार की ड्यूटी लगी थी। रात करीब दो बजे अस्पताल के न्यू वार्ड में काली टीशर्ट पहने एक युवक पहुंचा और देवी प्रसाद की इंसास रायफल लेकर भाग निकला। सिपाहियों ने उसका पीछा किया, लेकिन पकड़ नहीं पाए। युवक अस्पताल की बाउंड्री फांदकर झाड़ियों में गुम हो गया। इसकी जानकारी होते ही पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। एसएसपी, एसपी सिटी, सीओ समेत कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंची। टार्च के सहारे सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया तो झाड़ी में छिपे युवक पर एसएसपी नितिन तिवारी की नजर पड़ गई। बाउंड्री फांदकर उन्होंने युवक को रायफल के साथ दबोच लिया। आरोपित फार्मासिस्ट उमेश यादव पुत्र रामभवन कौशांबी जिले के चरवा थाना क्षेत्र स्थित करहरी गांव का निवासी है। सिपाही की तहरीर पर उसके खिलाफ लूट का मुकदमा लिखा गया है। एसआरएन अस्पताल में  फार्मासिस्ट है । अभियुक्त उमेश ने पुलिस को बताया कि वह स्वरूपरानी नेहरू (एसआरएन) अस्पताल में संविदा पर फार्मासिस्ट है। वह कुलभास्कर आश्रम से बीएससी करने के बाद प्राइवेट कॉलेज से एमएससी की पढ़ाई भी कर रहा है। उमेश का भाई विजय यादव अपर निदेशक स्वास्थ्य का ड्राइवर है। एसआरएन के प्रमुख अधीक्षक डॉ. एके श्रीवास्तव का कहना है कि उन्हें इस संबंध में जानकारी नहीं है। अगर ऐसा है तो उसकी सेवा समाप्त कर दी जाएगी। आपराधिक रिकार्ड नहीं है।  कैंट थाने में एसपी सिटी बृजेश यादव, इंस्पेक्टर आरएस रावत ने अभियुक्त से कड़ाई से पूछताछ की। कौशांबी पुलिस से भी उसके बारे में जानकारी जुटाई गई, लेकिन कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं मिल सका है। आरोपित ने बताया कि उसके भाई को बेली अस्पताल में कमरा मिला है, जहां पर अक्सर जाया करता था। बुधवार रात भी उसने एक दोस्त के साथ बीयर पी और फिर सिपाहियों के पास पहुंच गया। इसके बाद रायफल लूटी। उसका मकसद क्या था, यह अभी पता नहीं चल सका है, उसके मोबाइल की कॉल डिटेल रिपोर्ट निकलवाई जा रही है। देर होती तो भाग जाता उमेश दुर्गा पूजा पंडाल में हिस्ट्रीशीटर नीरज वाल्मीकि की हत्या के बाद बुधवार रात एडीजी जोन एसएन साबत, एसएसपी समेत अन्य अफसर सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। रात करीब सवा दो बजे जैसे ही एडीजी आवास के लिए निकले इंस्पेक्टर कैंट भागते हुए एसपी सिटी के पास पहुंचकर बताया कि इंसास रायफल लूट ली गई है तो वहीं से एसएसपी समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचकर किसी तरह अभियुक्त को पकड़ा।[ ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज, इलाहाबाद मंडल ]